what is kaizen? kaizen Means 

kaizen (Kaizen kya hai)एक जापानी शब्द है जिसका मतलब है लगातार सुधार. kaizen मुख्यतः दो शब्दों से मिलकर बना है KAI + ZEN जिसका अंग्रेजी में मतलब कंटीन्यूअस इम्प्रूवमेंट होता है और हिंदी में मतलब लगातार सुधार होता है.


kaizen in hindi, kaizen kya hai, kaizen meaning in hindi


kaizen के कारण organization में बहुत सारे नए आइडियाज की उत्पत्ति होती है जिससे की लगातार इम्प्रूवमेंट होते रहते हैं. kaizen के कारण employee इंगेजमेंट बढ़ता है या यह कहें कि कर्मचारी काम करने के लिए अधिक जागरूक रहते हैं.

kaizen को हम change for batter या फिर कंटीन्यूअस इम्प्रूवमेंट बोल सकते हैं.

kaizen का मुख्य उद्द्शेय quality कण्ट्रोल करना, जस्ट इन टाइम डिलीवरी करना, कार्य को स्टैण्डर्ड तरीके से करना, efficient इक्विपमेंट का उपयोग करना और waste एलिमिनेशन करना है.

आज कल सभी कंपनिया kaizen कांसेप्ट को अपनाती हैं और उनमें से हर employee को हर महीने कम से कम एक kaizen देना अनिवार्य होता है.


kaizen के लिए requirements

kaizen की मुख्य 5 रिक्वायरमेंट्स निम्नलिखित हैं.

1. टीम वर्क 

2. पर्सनल डिसिप्लिन 

3. improved moral 

4. क्वालिटी 

5. suggestions for improvements 

इन पांच रिक्वायरमेंट्स के कारण हमें kaizen से तीन चीजें प्राप्त होती हैं. जो कि निम्न लिखित हैं-

1. एलिमिनेशन ऑफ़ waste 

2. गुड हौसेकीपिंग 

3. गुड standardization 

kaizen कांसेप्ट हमें यह बताता है की कुछ भी परफेक्ट नहीं हैं और सभी को इमप्रोवे किया जा सकता है और लोगों को हमेशा इनोवेशन करते रहना चाहिए.


kaizen क्यों करना चाहिए?

kaizen करने के कई सारे लाभ हैं जो की निम्न लिखित हैं-

1. kaizen करने से quality improve होती है.

2. kaizen करने से प्रोडक्शन एफिशिएंसी बढती है.

3. kaizen करने से हम मटेरियल cost को कम कर सकते हैं.

4. kaizen करके हम प्रोडक्शन cost को कम कर सकते हैं.

5. कंटीन्यूअस इम्प्रूवमेंट कंपनी के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है.


kaizen करने की प्रोसेस

जब भी हम किसी कंपनी या organization को ज्वाइन करते हैं तो सबसे पहले हमें कुछ बेसिक ट्रेनिंग दी जाती है जिनमें से kaizen की ट्रेंनिंग प्रमुख हैं. 

हर कंपनी में आपकी पोजीशन के अनुसार kaizen करने के अलग-अलग रूल्स हो सकते हैं. मुख्यतः आपको हर महीने एक kaizen देना जरुरी होता है.

kaizen देने के लिए एक kaizen शीट होती है जिसमें कि organization का नाम होता है और भी बहुत सारी चीजें होती है जैसे की kaizen की CFT जिसे हम क्रॉस फंक्शनल team बोलते हैं जो की वो team होती है जो की आपको आपके kaizen को पूर्ण करने में आपकी मदद करती है.

इसके अलावा kaizen शुरुआत करने और ख़त्म करने की तारीख.

आपने अपने kaizen में क्या बदलाव किये हैं और इससे हमें क्या लाभ होगा.

जब आप अपना kaizen कर लेते हैं उसके बाद आप अपने रिपोर्टिंग बॉस को बताते हैं और अपना kaizen दिखाते हैं जिसे वो कंपनी के TPM team को देते हैं जिसके आप आपका kaizen रजिस्टर हो जाता है.

Read Also: 5S In Hindi


kaizen और PDCA  Cycle 

Kaizen meaning in hindi, PDCA In hindi


kaizen प्रोसेस PDCA Cycle का अनुसरण करता है जहाँ पर PDCA का मतलब प्लान-डू- चेक-एक्ट है.

प्लान  में परिवर्तनों को मैप करना है जिससे आपकी टीम को पता रहे की आप जो परिवर्तन करने वाले हो उससे क्या result मिलेगा.

डू में आप आपना kaizen अपनी team के साथ मिलकर करते हो और प्रॉब्लम का बेस्ट solution निकलते हो.

चेक में आप अपने किये गए kaizen को चेक करते हो की क्या आपका kaizen प्रॉब्लम को सोल्व कर रहा है या नहीं और अगर नहीं कर रहा है तो आप और कोण -कोण से changes करके प्रॉब्लम को सोल्व कर सकते हो और अपने kaizen को पूरा कर सकते हो.

एक्ट में आप यह देखते हो की क्या आपका kaizen कंपनी के स्टैण्डर्ड को फॉलो कर रहा है या नहीं. और अगर कंपनी के मेनेजर और changes करने के लिए डिसिशन लेते हैं तो हम फिर से प्लान वाली पोजीशन में आ जाते हैं और यह प्रक्रिया लगातार चलती रहती है.

Read Also: Line Balancing In Hindi

kaizen से लाभ 

1. kaizen से लगातार improvements होते रहते हैं.

2. कार्य प्रणाली में सुधार आता है.

3.लोग लगातार अपने काम को लेकर जागरूक रहते हैं.

4. quality में सुधार होता है.

5. प्रोडक्शन में सुधार होता है.

6. अनावश्यक कार्य में कमी आती है और धीरे - धीरे वे समाप्त हो जाते हैं.


Type of waste

kaizen का मुख्य उद्देश्य waste को कम करना या फिर ख़त्म करना हैं. लेकिन अगर हम ये कहें की हम waste को कम कर सकते हैं तो यह गलत नहीं होगा क्युकी waste फ्री वर्कप्लेस बनाना बहुत ही कठिन होता है इसलिये हम waste को कम करते हैं.

kaizen इम्प्रूवमेंट के लिए lean मैन्युफैक्चरिंग में मुख्य रूप से सात प्रकार के waste होते हैं जो की निम्न लिखित हैं -

1. ट्रांसपोर्टेशन 

2. इन्वेंटरी

3. मोशन

4. वेटिंग

5. overproduction 

6. ओवर प्रोसेसिंग

7. defects 


1. ट्रांसपोर्टेशन 

जब आप किसी machine या फिर मटेरियल या फिर resources को एक जगह से दूसरी जगह पर ले जाते हैं तो वह किसी भी प्रकार की वैल्यू नही देता है और उसमे आपके प्रोडक्ट के डैमेज होनें का भी खतरा बना रहता है. मटेरियल का ज्यादा मूवमेंट business के लिए महगा पड़ता है इसके अलावा इससे आपके प्रोडक्ट की क्वालिटी पर भी असर करता है.

2. इन्वेंटरी 

अनावश्यक इन्वेंटरी भी किसी भी कंपनी के लिए एक प्रकार का waste ही है. कई बार कंपनी unexpected डिमांड को पूरा करने के लिए और आपने आपको प्रोडक्शन डिले से बचाने overstock कर लेती हैं जिससे की कंपनी में ज्यादा इन्वेंटरी हो जाती है जिससे की कंपनी का बहुत सारा पैसा उस इन्वेंटरी में फंस जाता है जो कि एक प्रकार का waste ही है और इसे हम इन्वेंटरी waste कह सकते हैं.

3.मोशन

कंपनी के employee अथवा machine का एक स्थान से दुसरे स्थान तक का unnecessary मूवमेंट मोशन waste के अंतर्गत आता है.

4. वेटिंग 

मुख्यतः यह सबसे आसन waste है जिसे आप बड़ी ही आसानी से पहचान सकते हैं. जहाँ पर भी कार्य नहीं होता जैसे की लाइट चली गई या फिर machine बंद हो गई या फिर लो इन्वेंटरी के कारण काम रुक गया और इससे मैनपावर को वेट करना पड़ा इसे ही हम वेटिंग waste कहाते हैं.

5.over production 

यह बात ध्यान रखें की वो सभी चीजें waste हैं जिसके लिए कस्टमर आपको पैसे नहीं देता है. और हम सभी जानते हैं की कस्टमर कोई भी कस्टमर आपको आपके ओवर प्रोडक्शन के लिए पैसे नहीं देगा.  

6. over processing 

ओवर प्रोसेसिंग भी एक प्रकार का waste है. उदाहरण के तौर पर आप इसे ऐसे samaz  सकते हैं की मान लीजिये एक चार कंपनी है जो कार बनती है और अगर वो कार के पीछे टीवी लगा देगी तो उसका कोई भी उसे नहीं होगा जप की ओवर प्रोसेसिंग का उदाहरण है.

7. defects

defects को मुख्यतः rework करना पड़ता है और अगर डिफेक्ट ज्यादा ही बड़े होने तो पार्ट को स्क्रैप भी करना पड़ सकता है. डिफेक्ट को rework करने के लिए फिर से प्रोडक्शन प्रोसेस में जाना पड़ता है जिसमें cost, और टाइम दोनों का नुकसान उठाना पड़ता है.

Kaizen के प्रमुख परिणाम 

kaizen कई सारे उपयोगी परिणाम निम्न लिखित हैं-
1. kaizen से waste को कम किया जा सकता है.
2. कार्य करने की छमता को बढ़ाया जा सकता है.
3. 5 s को अच्छी तरह से लागू किया जा सकता हैं.
4. नए आइडियाज उत्पन्न होते हैं.

Post a Comment

नया पेज पुराने